1950 के दशक में 20300 KM दिल्ली से लंदन BUS से सफर संभव था

ये बात सच है कि कभी दिल्ली से लंदन आप बस से भी जा सकते थे क्योंकि तब दुनिया का सबसे लम्बा सड़क मार्ग कलकत्ता से लंदन हुआ करता था और इस मार्ग पर बस भी चलती थी।
कोई हिंदुस्तानी या अंग्रेज ने नहीं बल्कि सिडनी की अल्बर्ट टूर एंड ट्रेवल्स कंपनी ने शुरु की थी सेवा। 1950 के दशक के शुरू में होने के बाद लगभग 25 साल तक चली पर बाद में इसे किन्ही कारणों से बंद करना पड़ा। किराया था महज 85 पाउंड्स से लेकर 145 पाउंड्स।
कलकत्ता से शुरू होकर बनारस, इलाहाबाद, आगरा, दिल्ली से होते हुए लाहोर, रावलपिंडी,काबुल कंधार, तेहरान,इस्तांबुल से बुलगेरिया, युगोसलाविया,वीएना से वेस्ट जर्मनी और बेलजियम से होते हुए ये बस लंदन पहुंचती थी। इस दौरान ये करीब 20300 KM चलती थी और 11 मुल्कों को क्रॉस करती थी।

 

Jantak khabar
Author: Jantak khabar

– अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हरियाणा की नागरिक उड्डयन नीतियों की हुई चर्चा – डिप्टी सीएम – विदेशी निवेशक भी प्रदेश की नीतियों से प्रभावित, नए निवेश की उम्मीद – दुष्यंत चौटाला – उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने ‘विंग्स इंडिया-2022 इंटरनेशनल’ समिट’ में लिया हिस्सा – नागरिक उड्डयन क्षेत्र हरियाणा को देगा ऊंची उड़ान, प्रदेश में मॉडर्न इंफ्रास्ट्रक्चर हो रहा तैयार – डिप्टी सीएम