डिप्टी सीएम ने जींद यूनिवर्सिटी को दी 127 करोड़ रुपये की सौगात

दुष्यंत चौटाला ने विभिन्न विकास परियोजनाओं का किया उद्घाटन-शिलान्यास

 

जींद/चंडीगढ़1 अगस्त। आज विद्यार्थियों को पढ़ाई के साथ रिसर्च के कार्यों पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत हैजो कि समय की मांग भी है। यह बात उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने सोमवार को जींद में चौधरी रणबीर सिंह विश्वविद्यालय के सभागार में आयोजित कार्यक्रम के दौरान कही। कार्यक्रम से पहले उन्होंने विश्वविद्यालय परिसर में 40 करोड़ रुपये की लागत से बने शैक्षणिक खंड12 करोड़ रुपये की लागत से बने बहुउद्देशीय हाल एवं योगशाला का उद्घाटन किया। इसके साथ ही डिप्टी सीएम ने साढे 56 करोड़ रुपये से ज्यादा की लागत से बनने वाली अत्याधुनिक लाइब्रेरी व साढे 18 करोड़ रूपये की लागत से बनने वाले विश्राम गृह का शिलान्यास भी किया। इस अवसर जींद के विधायक डॉ कृष्ण लाल मिढाजुलाना के विधायक अमरजीत ढांडाउपकुलपति डॉ. रणपाल सिंहजेजेपी जिला प्रधान कृष्ण राठी सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि  सरकारी विश्वविद्यालयों में इन्क्यूबेशन सेंटर स्थापित करने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा पांच करोड़ रूपये की राशि उपलब्ध करवाने का प्रावधान है और इसके तहत विश्वविद्यालयों में साइंस एवं टेक्नोलॉजी सम्बंधित रिसर्चइनोवेशन के साथउद्यमिता को बढ़ावा देना इसका मुख्य उद्देश्य है। इस बारे उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशासन को एक प्रपोजल बनाने का सुझाव दिया है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि विद्यार्थी अक्षय ऊर्जाई-व्हीकललेदर हबस जैसे तकनीकी विषयों पर शोध करने का कार्य करें ताकि आने वाले समय में विद्यार्थियों इनका लाभ स्वरोजगार के साथ ले सकें। उन्होंने कहा कि प्रतिस्पर्धा के इस युग में युवाओं को अपने बेहतर भविष्य बनाने के लिए पूरी तरह से फोकस होना पडेगा। उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशासन से कहा कि रेसलिंगजूडो या कराटे में से एक दो ऐसे खेलों का प्रपोजल तैयार करके भेजें जिससे वह स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (साई) के सेंटर को विश्वविद्यालय में लाने का कार्य करेंगे।

 

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि भारत में प्राचीन काल से चली आ रही योग विद्या को डिजिटलाइजेशन के माध्यम से पूरे विश्व में फैलाया है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी योग विद्या को अपने करियर के रूप में अपनाकर स्वस्थ रहने के साथ-साथ अपनी आजीविका का साधन भी बना सकते है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान लोगों ने इसे अपनी दिनचर्या में शामिल भी किया है। उन्होंने कहा कि अगर हमारे अंदर कुछ कर गुजरने का जज्बा है तो हम स्थानीय स्तर की प्रतिभा को भी पूरे विश्व में ख्याति प्राप्त कर सकते है।

 

इस अवसर पर डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने शैक्षणिक ब्लाक द्वितीय में बने नए सभागार का नाम जींद के पूर्व विधायक स्व. डॉ. हरिचंद मिढ़ा के नाम पर रखने की बात भी विश्वविद्यालय प्रशासन से कही। उन्होंने कहा कि डॉ. मिढा का जुड़ाव जींद के विकास को लेकर रहा है। उपमुख्यमंत्री ने विश्वविद्यालय के विस्तार के लिए 100 एकड़ भूमि की मांग के विषय पर बोलते हुए कहा कि विश्वविद्यालय 100 एकड़ भूमि के लिए एक प्रपोजल उन्हे बनाकर देंजिससे वह ई-भूमि के माध्यम से इस मांग को पूरा करवाने का कार्य करेंगे।

 

कार्यक्रम में उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा चलाए गए आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत हर घर तिरंगा अभियान की शुरुआत स्वच्छता प्रेमियों को तिरंगे भेंट कर की। उन्होंने कहा कि 13 से 15 अगस्त तक चलाए जाने वाले इस तिरंगा अभियान में जनभागीदारी जरूरी है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जिला के लगभग तीन लाख घरों के साथ-साथ लोग अपने साधनों पर भी तिरंगा लगाने का काम करें। इस अवसर पर विश्वविद्यालय द्वारा गत एक सप्ताह से चलाए गए पौधारोपण अभियान का समापन पौधारोपण कर किया।

Jantak khabar
Author: Jantak khabar

– किसानों को परेशान होने की जरूरत नहीं, कल से हरियाणा में सुचारू रूप से शुरू हो जाएगी धान की खरीद – डिप्टी सीएम – हरियाणा सरकार के लिए किसानों के हित सर्वोपरि, पंजाब सरकार की तरह आंख बंद करके नहीं बैठे – दुष्यंत चौटाला